Types of fire and fire extinguishers | Fire Extinguisher in Hindi

4.3/5 - (6 votes)

Types of fire and fire extinguishers | Fire Extinguisher in Hindi

Types of fire and fire extinguishers | आग और अग्निशमक के प्रकार – आग एक रासायनिक क्रिया है जो तीन चीजों से मिलकर बनती है।

  • ऑक्सीजन
  • ईंधन
  • तापमान

जब भी यह तीनों तुझे आपस में मिलती है तो इनसे आग उत्पन्न होती है।

आग बुझाने के 3 तरीके होते हैं।

  • Starvation यानी भूखा मारना – इस तरीके में यदि हम आग से इंधन को हटा लेते हैं तो आग बुझ जाती है।
  • Smothering यानी दम घोटना – इसमें अगर हम आग से ऑक्सीजन हटा लेते हैं या खत्म कर देते हैं तो भी आग बुझ जाती है।
  • Cooling यानी ठंडा करना – इस तरीके में हम आग का तापमान कम कर देते हैं तो आग बुझ जाती है।

आग के प्रकार – आग को हम सामान्य 6 भागों में बाटते हैं।

  • Class A Fire
  • Class B Fire
  • Class C Fire
  • Class D Fire
  • Electrical Fire
  • Class F or K Fire

Class A Fire

दहनशील ठोस पदार्थ में लगने वाली आग जैसे कि लकड़ी, कागज, कपड़े, रबड़ आदि में लगने वाली आग इस श्रेणी में आती है।

Class B Fire

ज्वलनशील तरल पदार्थों जैसे कि पेट्रोल, डीजल, पेंट या अन्य ज्वलनशील तेल के कारण लगने वाली आग इस श्रेणी में आती है।

Class C Fire

ज्वलनशील गैसों जैसे कि हाइड्रोजन, हीलियम, ब्यूटेन, मीथेन आदि के कारण लगने वाली आग Class C में आती हैं।

Class D Fire

दहनशील धातुओं का इस्तेमाल जहा होता है वहाँ ओर उन धातु जैसे मैग्नीशियम, एलुमिनियम और पोटासियम आदि में लगने वाली आग इस श्रेणी में आती है।

Electrical Fire

आग के प्रकार में Class D के बाद Class E की जगह Electrical Fire आती है। जो आग बिजली के कारण और बिजली के उपकरण जैसे कंप्यूटर, ट्रांसफार्मर या बिजली के पैनल्स आदि की आग इस श्रेणी में आती है। लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है अगर हम बिजली की सप्लाई और उपकरणों को हटा लेते हैं तो आग का प्रकार A, B, C आदि जलने वाले पदार्थ के हिसाब से हो जाएगा फिर हम इसपे उसी प्रकार का Fire Extinguisher इस्तेमाल कर सकते हैं।

Class F or K Fire

रसोई के समान या बड़े बड़े रसोईघरों में लगने वाली आग इस श्रेणी में आती है, जैसे कि खाना बनाने वाले उपकरण जैसे तलने वाले बर्तन आदि।

YouTube पे देखें:-

तो ये सब थे आग के प्रकार। अब हम आपको लेके चलते हैं Fire Extinguisher की तरफ और बताते हैं के Fire Extinguisher कितने प्रकार के होते हैं, और किस प्रकार की आग पे कौनसा Fire Extinguisher इस्तेमाल होता है।

Related Posts:-

Fire Extinguisher के प्रकार

  • Water Extinguisher
  • Foam Extinguisher
  • Powder Extinguisher
  • Co2 Extinguisher
  • Wet Chemical Extinguisher

Water Extinguisher

Water Extinguisher चार प्रकार के होते हैं।

  • Water Jet Extinguisher
  • Water Spray Extinguisher
  • Water Extinguisher with Additive
  • Water MIST or Fog Extinguisher

Water Jet Extinguisher

इसको WJE भी कहते हैं। इसके द्वारा आग या जलते हुए पदार्थ पे पानी का JET SPRAY करके आग को बुझाया जाता है, बिजली के चालू उपकरणों की आग पे इसका उपयोग भूल के भी नही करना चाहिए।

Water Spray Extinguisher

इसे WSE भी कहते हैं। ये नॉर्मल दबाव पानी की बूंदों का SPRAY करता है, जिसकी सभी बूंदे हवा से घिरी होती हैं NON-CONDUCTIVE होती है।

Water Extinguisher with Additive

इस प्रकार के WATER EXTINGUISHER में फोम और केमिकल मील हुए होते हैं। इसे हम WEA भी कहते हैं।

Water MIST or Fog Extinguisher

इस EXTINGUISHER में पानी को धुंध या कोहरे के रूप में आग पे डाला जाता है।

अब बात आती है हम Water Extinguisher को कैसे पहचानेगे तो Water Extinguisher का लेबल लाल रंग का होता है। जिस से हम इसे आसानी से पहचान सकते हैं।

Foam Extinguisher

इसे हम FE भी कहते हैं। Foam Extinguisher का इस्तेमाल CLASS A और B की आग बुझाने में करते हैं। जैसे कि लकड़ी, कागज, पेट्रोल, डीजल जैसे ज्वलनशील तरल की आग बुझाने में Foam Extinguisher का इस्तेमाल करना चाहिए। Foam Extinguisher का लेबल क्रीम रंग का होता है।

Powder Extinguisher

इसे PE भी कहते हैं। ये एक बहुत ही अच्छा बहु प्रयोजन (multi purpose) Extinguisher है, क्योंकि इसका उपयोग हम A, B और C तीनो के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग हम Electrical Fire में भी कर सकते हैं। हालांकि पदार्थ ठंडा नही होता तो फिर से आग भड़कने के संभावना रहती है इसीलिए इसका उपयोग सावधानी से करना चाहिए ये आपके देखने की क्षमता भी कम कर सकते हैं, साथ ही आपको सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है। इसी कारण जब तक इसका कोई दूसरा विकल्प ना हो तब तक बिल्डिंग के अंदर नही करना चाहिए। इसका लेबल नीला होता है।

Co2 Extinguisher

Co2 Extinguisher बहुत सारे बिजली के उपकरणों वाले स्थान जैसे आफिस या सर्वर रूम के लिए आदर्श होते हैं, क्योंकि ये बिजली के उपकरणों वाली आग के लिए सबसे सुरक्षित होते हैं। ये किसी भी तरह का कोई अवशेष या जैसे कि पाउडर या तरल आदि नही छोड़ते। इनका उपयोग B श्रेणी की आग पे भी किया जा सकता है, जिनमे ज्वलनशील तरल पदार्थ जैसे पेट्रोल और डीजल आते हैं। Co2 Extinguisher हवा में ऑक्सीजन की कमी करके आग बुझाने का काम करता है। Co2 Extinguisher का लेबल काले रंग का होता है।

Wet Chemical Extinguisher

इसे हम WCE भी कहते हैं। ये Extinguisher श्रेणी F की आग के लिए सबसे अच्छे रहते हैं। क्योंकि खाना बनाने वाले तेल, मक्खन और खाना बनाने की बड़ी बड़ी होटलों की रसोई और उनके खाना बनाने वाली मशीने आदि की आग के लिए सही रहते हैं। ये बहुत ही प्रभावशाली होते हैं। Wet Chemical तेजी से आग की लपटों को फैलने से रोकता है, और जलते हुए तेल या अन्य पदार्थ को ठंडा करता है ये एक साबुन जैसा घोल बनाके आग को रोकता है। इसको A और B श्रेणी की आग बुझाने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। इसका लेबल पीले रंग का होता है।

आकाशीय बिजली

आकाशीय बिजली गिरने से लगने वाली आग को बुझाने के लिए सबसे पहले ये देखें कि आग किस वस्तु में लगी है फिर उनके हिसाब से आप Fire Extinguisher चुन के आग बुझाने में कर सकते है। अगर उस समय आपके पास Fire Extinguisher उपलब्ध नहीं है तो आप पानी या रेत आदि का उपयोग कर सकते हैं लेकिन उस से पहले भी ये देखें कि आग किस चीज में लगी है उसके हिसाब से पानी या रेत का चुनाव करें। अगर आपने सही से हमारा पूरा लेख पढ़ा है तो पानी या रेत का चुनाव कहाँ करना है ये आप अच्छे से समझ गए होंगे।

Previous articleBuchholz Relay | What is Buchholz relay, Principle and operation [हिंदी]
Next articleTypes of Transformers as per Interview [ हिंदी ]

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here