What is OLTC and RTCC

3.5/5 - (2 votes)

What is OLTC and RTCC आज की पोस्ट मे हम इसी विषय के बारे मे जनेगे। OLTC और RTCC क्या होते हैं, इनका कम क्या होता है और ये कैसे काम करते हैं। सबसे पहले हम इनका पूरा नाम जान लेते हैं।

  • RTCC – Remote Tap Changing Control
  • OLTC – On Load Tap Changer
  • OLTC और RTCC क्या होते हैं?

OLTC एक पैनल होता है जिसका पूरा नाम On Load Tap Changer है। इसको On Load Tap Changer इसीलिए बोलते हैं क्यूकी इसमे Tap बदलते समय हम लोड को हटाते नही है यानि On Load Tap Changer मे Tap बदलते समय लोड चालू ही रहता है उसमे किसी तरह कि कोई बाधा उत्त्पन नही होती। ये Transformer के अंदर की एक फिक्स यूनिट होती है। ये Oil Type Transformer और Dry Type Transformer दोनों मे ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

हमारे बाकी से सभी Electrical Equipments की तरह OLTC भी ऑटो और Manual दोनों तरह से काम करता है। जब OLTC को Auto मे ऑपरेट करते हैं तो इसके लिए RTCC पैनल की जरूरत पड़ती है। RTCC पैनल मे AVR लगा रहता है। जिसका पूरा नाम Automatic Voltage Regulator होता है। इसका काम Transformer की आउटपुट वोल्टेज को रेगुलेट करना होता है। RTCC पहले Transformer की आउटपुट वोल्टेज को चेक करता है।

अगर Transformer की आउटपुट वोल्टेज हमारी जरूरत से कम होती है तो RTCC सीधा OLTC को कमांड देता है और उसके बाद OLTC वोल्टेज को हमारी सेट वोल्टेज तक लाने के लिए Tap बदलता है उसके बाद Transformer की आउटपुट वोल्टेज बढ़ जाती है। साथ ही अगर Transformer की आउटपुट वोल्टेज सेट लेवल से ज्यादा आ जाती है, तो ऐसे मे भी RTCC सीधा OLTC को कमांड देता है और उसके बाद OLTC फिर से Tap बादल के वोल्टेज को सेट लेवल पे ले आता है।

वोल्टेज का कम या ज्यादा क्यूँ होती है?

Transformer की आउटपुट वोल्टेज का कम या ज्यादा होना Transformer की इनपुट यानि HT वोल्टेज मे निर्भर करता है, साथ ही अगर लोड कम या ज्यादा हो जाए तो भी Transformer की आउटपुट वोल्टेज कम या ज्यादा हो जाती है। तो ये इस तरह से हमारी Required वोल्टेज के ऊपर काम करता है।

OLTC का इस्तेमाल कहाँ होता है?

आप से बहुत बार इलैक्ट्रिकल के इंटरव्यू मे भी पूछा जा सकता है कि OLTC कहाँ इस्तेमाल होता है और कैसे काम करता है। तो जैसे कि हमने पहले ही बताया था कि OLTC को Oil Type Transformer और Dry Type Transformer दोनों मे ही इस्तेमाल किया जा सकता है। ये RTCC पैनल से जुड़ा होता है, जिसमे AVR कि मदद से वोल्टेज को सैन्स करने बाद ये वोल्टेज तो सेट लेवल तक ले आता है।

अगर किसी कारण RTCC पैनल मे लगे AVR मे कोई खराबी आ जाती है, तो ऐसे मे हम RTCC पैनल मे लगे कंट्रोल switches कि मदद से OLTC को Manual भी ऑपरेट कर सकते हैं। साथ ही Transformer पे जहां OLTC यूनिट लगी है वहाँ से भी हम Manual गेयर्स के हैंडल को घूमा के भी OLTC को ऑपरेट करके Taps को बदल सकते हैं।

Read More:-

इस तरह के सवाल भी आपसे इंटरव्यू मे बहुत बार पूछ लिए जाते हैं कि किस-किस तरीके से हम Tap Changer को ऑपरेट कर सकते हैं या फिर इसको On Load Tap Changer क्यूँ कहते हैं। इसको On Load Tap Changer इसीलिए बोलते हैं क्यूकी इसमे Tap बदलते समय हम लोड को हटाते नही है यानि On Load Tap Changer मे Tap बदलते समय लोड चालू ही रहता है उसमे किसी तरह कि कोई बाधा उत्त्पन नही होती।

जो Off Load Tap Changer होता है उसमे Tap बदलने के लिए पहले Transformer को इनपुट पावर सप्लाइ से Disconnect करना पड़ता है। जिसके लिए हमे HT Circuit Breaker को बंद करना पड़ता है और उसके बाद Manually Off Load Tap Changer कि Clamps को बदल के Tap बदलते हैं। On Load Tap Changer और Off Load Tap Changer मे यही एक मुख्य अंतर होता है। 

Previous articlePower Factor Interview Question And Answers [हिन्दी]
Next articleSwitchgear क्या होते हैं? Switchgear के प्रकार और उपयोग क्या-क्या होते हैं?

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here