Why Battery Bank Is Used In Substations | सबस्टेशन में बैटरी बैंक का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

Rate this post

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि जो Electrical Panel होते हैं उनमें Battery Bank का इस्तेमाल क्यों किया जाता है। यह सवाल बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है, क्योंकि ऐसे सवाल इंटरव्यू में भी बहुत बार पूछा जाता है। तो इस पोस्ट मे हम इस सवाल को बड़ी आसानी से आपको समझाएंगे की Electrical Panel में Battery Bank का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

सबसे पहले बात करते हैं Electrical Substation की। वैसे तो सब जानते होंगे कि Electrical Substation आखिर होता क्या है। लेकिन फिर भी अगर आपको नहीं पता कि Electrical Substation किसे कहते हैं तो हम आपको बता दें, जैसे कि जेनरेटिंग स्टेशन यानी कि जहां पर बिजली बनाई जाती है। वहां से Transmission Line के द्वारा एक जगह पर हम बिजली को इकट्ठा करते हैं, और फिर वहां से अलग-अलग जगह पर डिस्ट्रीब्यूशन करते हैं। तो उस जगह को Substation कहा जाता है।

Electrical Panel में Battery Bank का इस्तेमाल इसीलिए किया जाता है, क्योंकि वहां पर जो भी सर्किट ब्रेकर होते हैं, उनकी जो भी कंट्रोलिंग होती है वह DC Voltage से ऑपरेट की जाती है। और यह DC Voltage बैटरी से ही मिलती हैं। तो इसी के साथ सबसे पहला पॉइंट यही क्लियर हो जाता है, कि Electrical Panel में जो भी सर्किट ब्रेकर, सेफ्टी और कंट्रोलिंग जो भी लगा होता है उसको DC Voltage से ही कंट्रोल किया जाता है। और यह DC Voltage हमें बैटरी बैंक से ही मिलती है।

आखिर इसे बैटरी बैंक क्यों कहा जाता है?

अगर बात करें Substation की तो Substation बहुत बड़ा होता है, जहां पर बहुत सारे पैनल लगाए जाते हैं। और उन पैनल में बहुत सारे सर्किट ब्रेकर, सेफ्टी डिवाइस और कंट्रोलिंग डिवाइस लगे रहते हैं। और इन इतने सारे डिवाइस को ऑपरेट करने के लिए हमें बहुत ज्यादा करंट की आवश्यकता पड़ती है। तो ऐसे में हम वहां पर इन सभी चीजों को चलाने के लिए बहुत सारी बैटरी को सिरीज़ में जोड़ देते हैं। ये बैटरी नहीं असल में ये सेल होते हैं। अगर बैटरी की बात करें तो अलग-अलग सेल को जोड़ के बैटरी का बनाया जाता है।

जैसे कि 2 वोल्ट के 3 सेल को जोड़कर हम 6 वोल्ट की बैटरी बना सकते हैं, उसी प्रकार से जो 2 वोल्ट के 6 सेल को जोड़ देते हैं तो 12 वोल्ट की बैटरी बन जाती है। ध्यान रखने वाली बात यह होती है कि इन दो 2 वोल्ट की सेल को हमें सीरीज में जोड़ना होता है। Substation में या फिर बड़े-बड़े पैनल में जहां पर भी बैटरी बैंक का उपयोग किया जाता है, वहां पर बैटरी बैंक की वोल्टेज या तो 48 वोल्ट होती है या फिर 220 वोल्ट होती है।

DC Voltage का इस्तेमाल हम कहां-कहां करते हैं

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया था DC Voltage को हम ट्रिप और क्लोजिंग रिले के लिए इस्तेमाल करते हैं। जो कि सर्किट ब्रेकर में होती है। और ये सर्किट ब्रेकर को ऑन या ऑफ करने के काम में आती हैं उसके बाद प्रोटेक्शन के जितने भी उपकरण होते हैं। जैसे कि Earth Fault Relay, Over Current Relay, Over Voltage Relay ये जितनी भी प्रोटेक्शन डिवाइस होती है, इनको ऑपरेट करने के लिए हम DC Voltage का इस्तेमाल करते हैं।

इसके अलावा जितने भी Control Circuit होते हैं, उन Control Circuit के लिए भी हम डीसी वोल्टेज का ही इस्तेमाल करते हैं। Control Circuit की बात करें तो Control Circuit में हम जैसे कि Circuit Breaker की इंटरलॉकिंग की जाती है, या Measuring Devices जैसे कि Ammeter और Voltmeter आदि इन सभी की कंट्रोलिंग के लिए डीसी वोल्टेज का इस्तेमाल करते हैं हमारे पैनल में जितने भी इंडिकेट इंडिकेशन लैंप दिए जाते हैं वह ज्यादातर मामलों में DC Voltage का ही इस्तेमाल किया जाता है।

https://youtu.be/ovfK6tF7djA

जैसे कि किसी भी उपकरण के चालू, बंद या ट्रिप आदि के लिए जो भी इंडिकेशन लैंप लगे होते हैं, वो सारे इसी DC Voltage इसी बैटरी बैंक से ऑपरेट होते हैं। साथ ही जो भी अलार्म सिस्टम लगा होता है वो भी इसी बैटरी बैंक की मदद से काम करता है। साथ ही PLC पैनल या और कंप्यूटर सिस्टम भी इसी बैटरी बैंक के साथ ही जुड़े रहते हैं, ताकि पावर कट होने की स्थिति में कोई भी डाटा का नुकसान ना हो। साथ ही आपने टेप चेंजर का भी नाम सुना होगा, जो ट्रांसफार्मर की आउटपुट वोल्टेज को घटाने और बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है वह टेप चेंजर भी बैटरी बैंक की मदद से ऑपरेट किया जाता है। लेकिन कहीं-कहीं पर टेप चेंजर को AC Voltage से भी ऑपरेट किया जाता है

इनमें हम DC Voltage का ही उपयोग क्यों करते हैं?

DC Voltage की सबसे अच्छी प्रॉपर्टी ये है कि हम DC Voltage को एक जगह पर स्टोर कर सकते हैं। जैसे कि हम बैटरियों में स्टोर करके रखते हैं। और फिर इनवर्टर और UPS की मदद से उसका उपयोग करते हैं। तो ऐसे में जब भी मेन लाइट डाउन हो जाए तो ऐसी हालत में सारा सिस्टम बैटरी बैंक की सहायता से ऑपरेट होता है। तो ऐसे में इस हालत में पावर जाने के कारण किसी भी तरह के नुकसान को होने से रोकने के लिए ही बैटरी बैंक का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि हम आसानी से बिजली जाने के बाद भी अपने सिस्टम को ऑपरेट कर सकें।

Read More :-

अगर बात करें हम किसी फैक्ट्री या बिल्डिंग की तो वहां पर एक बार को पावर फेल होने काम चल जाता है, लेकिन अगर बात करें Substation की तो Substation के साथ बहुत बड़े बड़े एरिया जुड़े होते हैं। जैसे कि बहुत सारे गांव, शहर, कॉलोनी आदि। और इनके लिए बहुत सारे Circuit Breaker लगे रहते हैं, तो ऐसे में अगर एक बार मैन पावर सप्लाई फेल होती है, तो एक एक करके जितने भी Circuit Breaker हैं सब को बंद करना पड़ेगा और अचानक से मैन पावर आने पर एकदम से बहुत सारे लोड के कारण कोई भी नुकसान होने से बचाया जा सकता है।

तो ऐसे में अगर वहां पर बैटरी बैंक का इस्तेमाल किया गया हो तो बिजली जाने पर भी वह हमारे सिस्टम को वर्किंग में रखेगा। साथ ही कभी हमे इलैक्ट्रिकल सिस्टम की टेस्टिंग करनी हो तो उसके लिए भी DC Voltage का ही इस्तेमाल करते हैं। इनके साथ ही एनरजेंसी लाइट, साइन बोर्ड, सभी तरह के सिग्नल आदि में भी DC Voltage जा ही इस्तेमाल किया जाता है। तो अगर हम अपने इलेक्ट्रिकल सिस्टम में बैटरी बैंक का इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो हमें ऊपर बताई गई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जोकि हमारे सिस्टम लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है। तो ऐसे नुकसान से बचने के लिए और अपने काम काम को आसानी से करने के लिए ही हम बैटरी बैंक का इस्तेमाल करते हैं।

तो उम्मीद है दोस्तों अब आपको समझ में आ गया होगा कि सब स्टेशन में या फिर किसी भी इंडस्ट्रीज, फैक्ट्री के इलेक्ट्रिकल सिस्टम में बैटरी बैंक का इस्तेमाल क्यों किया जाता है। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई है तो हमें नीचे कमेंट में बता सकते हैं। साथ ही ऐसी लेटेस्ट अपडेट आप सीधे अपने ईमेल में पाने के लिए आप हमें ईमेल से सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। और हमारे इलेक्ट्रिकल से जुड़े हुए वीडियो हिंदी में देखना चाहते हैं तो आप हमारा यूट्यूब चैनल इलेक्ट्रिकल हेल्प सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Previous articleTON को KW में कैसे बदलें? AC Star Rating कितनी होनी चाहिए?
Next articlekW और kVA में क्या अंतर है kW and kVA Difference in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here